दहेज की मांग से परेशान, बेटी के शादी कार्ड पर सुसाइड नोट लिख पिता ने दी जान

समाज में पनपे दहेज के दानव ने फिर एक जीवन को लील लिया.

हरियाणा के रेवाड़ी में शादी से ठीक एक दिन पहले बेटी के पिता से 30 लाख रुपये दहेज की मांग के बाद लड़की के पिता ने शादी के कार्ड पर ही सुसाइड नोट लिखकर मौत को गले लगा लिया.

यह मामला रेवाड़ी का है जहां ट्रांसपोर्ट का कारोबार करने वाले कैलाश तंवर ने अपनी बेटी का रिश्ता गुरुग्राम के रहने वाले सुनील कुमार के बेटे रवि से तय किया था.

बेटी की शादी की बात से खुश पिता समारोह को शानदार बनाने में जुटे हुए थे. शादी की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी.

शादी से ठीक एक दिन पहले वर पक्ष ने बेटी के पिता से 30 लाख रुपये दहेज में देने की मांग रख दी और कहा कि अगर वो पैसे नहीं दे सकते तो फिर लगन लेकर उनके घर ना आएं.

इस बात से कैलाश तंवर बेहद दुखी और निराश हो गए. उन्होंने लड़के वालों को देने के लिए 13-15 लाख रुपये का भी इंतजाम कर लिया था लेकिन 30 लाख रुपये उनके लिए संभव नहीं था.

वर पक्ष को मनाने के लिए लड़की के पिता अपने बहनोई के साथ उनके गांव पहुंचे और उन्हें मजबूरी भी बताई लेकिन वो नहीं माने. 19 नवंबर को अलवर के गांव बूढ़ी बावला में जब लड़के वाले नहीं माने तो कैलाश तंवर अपने बहनोई के दफ्तर में ही सो गए. 

सुबह जब कैलाश चंद के बहनोई (जीजा) उनके लिए चाय लेकर दफ्तर लौटे तो उन्हें फंदे से लटका हुआ पाया.

इतना ही नहीं कैलाश चंद ने आत्महत्या करने से पहले बेटी की शादी के कार्ड पर ही सुसाइड नोट लिखा और सरकार से दहेज के ऐसे लोभियों के परिवार पर कार्रवाई करने की मांग की.