समंदर में लापता नेवी कमांडर निशांत सिंह की चिट्ठी वायरल, जानें क्यों लिखा- मैं बम गिराना चाहता हूं

इंडियन नेवी के लापता ऑफिसर कमांडर निशांत सिंह की तलाश जारी है. निशांत सिंह ने अपने सहयोगी कमांडर के साथ मिग-29 से 26 नवंबर को शाम 5 बजे उड़ान भरी थी.

ये विमान अरब सागर में क्रैश हो गया है. इस हादसे में दूसरे पायलट तो मिल गए हैं, लेकिन निशांत सिंह की तलाश जारी है. 

निशांत सिंह की तलाश के साथ ही उनका एक पत्र वायरल हो रहा है. ये पत्र अब से सात महीने पहले ही कमांडर निशांत सिंह ने अपने वरिष्ठ अफसरों को लिखा था.

अपनी शादी के फैसले की सूचना अपने वरिष्ठ अफसरों को देने के लिए. इस पत्र की भाषा और इसका अंदाज बताता है कि कमांडर सिंह कितने जिंदादिल और खुशमिजाज और जीवंत इंसान थे.   

अपनी शादी की इजाजत मांगते हुए कमांडर निशांत सिंह ने अपने सीनियर ऑफिसर को लिखा था, “मैं खुद पर एक न्यूक्लियर गिराना चाह रहा हूं और मैं महसूस करता हूं कि जैसा कि युद्ध के दौरान हम लोग क्षण भर में फैसला लेते हैं, मेरे पास इस फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए वक्त खर्च करने की लग्जरी नहीं है.

उन्होंने युद्धकाल में इस्तेमाल की जाने वाली भाषा का शानदार प्रयोग करते हुए अंग्रेजी में लिखे पत्र में कहा कि तीन साल की कठिन ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद मिस नायब रंधावा और मैंने आपसी सहमति से तय किया है कि वास्तव में हम दोनों एक दूसरे को बिना मारे हुए अपनी जिंदगी एक साथ गुजार सकते हैं|

विवाह की इजाजत मांगते हुए उन्होंने लिखा, “मुझे उम्मीद है कि इस लापरवाह, आत्महत्या जैसे दिखने वाले और पूर्ण रूप से लड़कपन में की गई गलती को माफ करने के लिए आपके पास दिल है.

पत्र के अंत में इस युवा पायलट ने अपने सीनियर अफसर को शादी में आने का निमंत्रण देते हुए लिखा, “आप व्यक्तिगत रूप से इस Massacre में शामिल हों और इस जोड़े को श्रद्धांजलि दें.