अबकी नवरात्र क्या होने वाला है खास, तैयारी कर दीजिए शुरू बचे बस कुछ दिन

इस बार नवरात्र काफी समय बाद आ रहे हैं। 15 दिन का पितृ पक्ष और उसके बाद एक महीने का अधिकमास तब जाकर 17 अक्‍टूबर से इस बार नवरात्र का आरंभ होगा। शारदीय में जगह-जगह डांडिया का आयोजन होता है। मगर इस बार कोरोना के चलते नवरात्र का पर्व उतनी धूमधाम से नहीं मनाया जा सकेगा, जितना कि हर साल होता है। फिर भी हम सब हर साल की तरह अपने-अपने घरों में मां दुर्गा का स्‍वागत करने की पूरी तैयारी कर रहे हैं। आइए जानते हैं इस बार नवरात्र में क्‍या होगा खास…

प्रत्‍येक वर्ष नवरात्र में मां दुर्गा अलग-अलग वाहनों पर सवार होकर आती हैं। इस बार नवरात्र में मां दुर्गा घोड़े पर सवार होकर अपने भक्‍तों को दर्शन देने आएंगी। देवीभागवत पुराण में बताया गया है कि नवरात्र में मां दुर्गा का आगमन और सवारी भविष्‍य में होने वाली घटनाओं की ओर इशारा करती है। मां दुर्गा के प्रत्‍येक वाहन का अलग-अलग धार्मिक महत्‍व होता है।

इस बार मां के नवरात्र 8 दिन के होंगे। पंचांग की गणना के आधार पर यह माना जा रहा है कि अष्‍टमी और नवमी तिथि एक ही दिन पड़ेगी। पंडितों का कहना है कि इस बार 24 अक्‍टूबर को सुबह 6 बजकर 58 मिनट तक अष्‍टमी रहेगी और उसके बाद फिर नवमी लग जाएगी। इस प्रकार से नवरात्र 9 दिनों के बजाए 8 दिन के होंगे।

नवरात्र के पहले दिन घटस्थापना की जाती है। इस बार शारदीय नवरात्र के पहले दिन आश्विन मास के शुक्‍ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को घटस्‍थापना की जाती है। घट स्थापना मुहूर्त का समय प्रात:काल 06:27 बजे से 10:13 बजे तक बताया गया है।