सीएम नीतीश के निर्देश के बाद एक्शन में बिहार पुलिस, संपत्ति कुर्क होने को आयी तो सरेंडर करने लगे भगोड़े

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक के बाद बिहार पुलिस का एक्शन दिखने लगा है। भगोड़ों पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस ने उनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई ज्यों ही तेज की, अभियुक्त गिरते-पड़ते समर्पण करने लगे हैं।

चंद दिनों में ही सैकड़ों भगोड़ों ने पुलिस या अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। कुर्की जब्ती से बचने के लिए आत्मसमर्पण करनेवाले अभियुक्त हत्या और दूसरे गंभीर अपराधों में शामिल थे।

लंबित मामलों के निपटारे को चल रहा अभियान
अपराध नियंत्रण और विधि-व्यवस्था की समीक्षा बैठक के बाद मुख्यालय ने कई बिंदुओं पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इसमें लंबित मामलों के निष्पादन में तेजी लाना भी शामिल है।

इसके लिए रेंज आईजी से लेकर सर्किल इंस्पेक्टर तक को वैसे थानों की जिम्मेदारी सौंपी गई है, जो अपराध के दृष्टिकोण से संवेदनशील हैं।

मुख्यालय के आदेश के बाद जिला पुलिस ने कुर्की-जब्ती के वारंट का तामिला तेज कर दिया है। इसके लिए सभी जिलों में अभियान चलाया जा रहा है।