समस्तीपुर: मोहिउद्दीननगर में लूट-खसोट का पर्याय बनी हर घर नल जल योजना

मोहिउद्दीननगर में सरकार की महत्वाकांक्षी योजना हर घर नल जल का बुरा हाल है। करोड़ों रुपये खर्च के बाद भी आमजनों को शुद्ध पेयजल नसीब नहीं हो रहा है।

यह अलग बात है कि सरकारी स्तर पर घर घर जल पहुंचाने का दावा जरूर किया जा रहा है। यह कागजों पर तो दिख रहा है, पंरतु जमीनी हकीकत इससे इतर है।

कमोवेश प्रखंड की 17 पंचायतों का यही हाल है। आमलोगों की पहुंच से अब भी नल का शुद्ध पेयजल मिलना बाकी है।

यहां के लोगों को प्रतिदिन सिर्फ आश्वासन हीं मिलता रहा है। पंचायत के वार्ड नंबर एक में 14 लाख की लागत से इस योजना की शुरुआत वर्ष 2017 में की गई।

पंचायत क्रियान्वयन समति के द्वारा दिव्या इंटर प्राईजेज समस्तीपुर को यह कार्य सौँपा गया है। जिसके द्वारा सरकारी खाते से राशि कि निकासी तो कर ली गई पंरतु आज तक हर घर नल का जल नहीं पहुंच सका। 

वहीं किसी भी घर में अब तक नल नहीं लगाया गया है। परिणाम स्वरुप सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना से लोगों को लाभ नहीं मिल रहा है।

यहां तक की इस कार्य के लिए लगाए गए पंप सेट और मशीनरी भवन के निर्माण ही संपूर्ण योजना की पोल खोल रहा है। 

कल्याणपुर बस्ती पूर्वी पंचायत में कुल 14 वार्ड है। कितु एक भी वार्ड में यह योजना चालू नही है। मुखिया मो. निजाम का बताना है कि वार्ड संख्या 01 और 14 में पंचायत स्तर से हर घर नल का जल पहुंचाया गया है।

जबकि जबकि वार्ड संख्या 08, 09, 10, 11 और 07 को ग्रामीण जलापूर्ति योजना से जोड़ा गया है। जबकि शेष बचे वार्डो मे पीएचईडी को जिम्मेवारी दी गई है।