Hathras केस. में बड़ा ट्विस्ट DM ने कहा गलत बॉडी को जलया गया है,असली बॉडी है सुरक्षित

हाथरस कथित गैंगरेप मामले पर एक तरफ पूरे देश में आक्रोश है वहीं दूसरी तरफ इस केस में लगातार नए खुलासे सामने आ रहे हैं। स्थानीय शासन प्रशासन को लेकर लगातार इस तरह के अडेट्स आ रहे हैं जिससे उनपर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। पहले दलित लड़की के साथ गैंगरेप और फिर जबरन उसके शव को आधी रात में जलाया जाना इस तरह की चीजों पर पहले से ही देश की जनता विरोध कर रही है और अब पीड़ित परिवार को डीएम की तरफ से धमकाए जाने की भी खबर सामने आ रही है।

ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता के कजन भाई ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा है कि डीएम ने दावा करते हुए कहा है कि किसी दूसरे की बॉडी को जलाया गया था जबकि पीड़िता की बॉडी तो सुरक्षित रखा गया है।

पीड़िता के कजन भाई ने कहा कि उसने अपने परिवार के सदस्यों और डीएम के बीच की बातचीत को चुपके से सुना जब डीएम उनके घर दौरे पर गुरुवार को आए थे। उसने बताया कि डीएम उनके परिवार से कह रहे थे कि हम (प्रशासन) पीड़िता के शव को नहीं देंगे, उसकी बॉडी रेफ्रिज कर सुरक्षित रखा गया है, दूसरी बॉडी को जलाया गया था।

स्थानीय पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा किए गए अत्याचारों के बारे में पीड़िता के कजन ने आगे कहा कि उन्हें मीडिया के साथ बातचीत करने से रोका जा रहा है। लड़के ने कहा कि डीएम ने मेरे चाचा (पीड़िता के पिता) की पिटाई की, उन्होंने कहा कि वह मीडियाकर्मियों को बुलाएगा और प्रशासन को बेनकाब करेगा।

कल, सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया जिसमें पीड़ित परिवार की एक महिला सदस्य को यह कहते हुए सुना जा सकता है, अब वे हमें यहां रहने नहीं देंगे … (डीएम) का कहना है कि हम विश्वसनीय नहीं हैं, हम अपना बयान बदल रहे हैं। वह हम पर दबाव बना रहा है।

बता दें कि दलित पीड़िता की मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। उसे सोमवार को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी मेडिकल कॉलेज से लाया गया था। सरकार ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है और कहा है कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। मामले के सभी चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।