बिहार में हर दिन औसतन 9 हत्या-4 रेप, तेजस्वी ने मांगा गृह मंत्री का इस्तीफा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सुशासन के दावे करते हैं. नीतीश कुमार अपराध और अपराधियों पर सख्ती की बात करते हैं, लेकिन बिहार के अपराधी बेखौफ हैं. बिहार राज्य अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े इसकी गवाही दे रहे हैं.

ब्यूरो की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में इस साल जनवरी से सितंबर के बीच 2406 लोगों की हत्या हुई है. रेप के भी 1106 मामले दर्ज हुए हैं.

ये आंकड़े बताते हैं कि पिछले 9 महीने में अपराध के ग्राफ में किस तरीके से निरंतर तेजी देखने को मिली है. बिहार में हर दिन नौ हत्या और रेप की चार घटनाएं घटित हो रही हैं.

हत्या के मामलों पर नजर डालें तो सबसे ज्यादा घटनाएं राजधानी पटना में हुई हैं, जहां 9 महीने में 159 लोगों की हत्या हुई है. दूसरे नंबर पर गया जिला है, जहां 138 हत्याएं हुई हैं. इसी अवधि में 134 हत्याओं के साथ मुजफ्फरपुर तीसरे नंबर पर है.

वहीं, दूसरी तरफ बढ़ते अपराध को लेकर पुलिस के अपने तर्क हैं. पुलिस का कहना है कि राज्य में हत्या के जो मामले सामने आए हैं, उनमें से अधिकतर घटनाओं के पीछे जमीनी विवाद या आपसी रंजिश वजह है.