बिहारवासी अब 250 रुपये दीजिए और घर पहुंचेगा जमीन का नक्शा, रिकॉर्ड रूम का झंझट ख़त्म

राज्यवासियों को घर बैठे जमीन (मौजा) का नक्शा मंगाने की सुविधा नये साल से मिलने जा रही है. इसकी होम डिलेवरी की फीस राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह ने तय कर दी है.

नक्शे की होम डिलेवरी के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के बाद प्रति कॉपी 250 रुपये लिये जायेंगे. दूरी के हिसाब से पैसा नहीं लगेगा.

यानी अब राजधानी पटना का रैयत नक्शा मंगाये या 400 किमी दूर किशनगंज का किसान, दोनों को समान रूप से 250 रुपये प्रति शीट शुल्क चुकाना होगा.

बिहार सर्वेक्षण कार्यालय, गुलजारबाग, पटना से जनवरी के पहले सप्ताह से नक्शों की होम डिलेवरी की योजना है.

विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह ने बुधवार को विभागीय उच्चाधिकारियों के साथ विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर समीक्षा बैठक की.

नक्शे की प्रति शीट कीमत-पैकेजिंग तथा डाक खर्च को लेकर मंथन हुआ. कहीं से भी बुकिंग और होम डिलिवरी पर प्रति नक्शा 250 रुपये लेने पर सहमति बनी है. बैंक और डाक विभाग के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हो चुकी है.

एसीएस ने एनआइसी को योजना से संबंधित सॉफ्टवेयर सर्वेक्षण कार्यालय, गुलजारबाग को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं. बैठक में सर्वेक्षण करने वाली हवाई एजेंसियों के काम की समीक्षा की गयी.

आइआइसी, हैदराबाद के काम को असंतोषजनक पाया गया है. इस कंपनी से स्पष्टीकरण मांगा गया है. कंपनी को ब्लैकलिस्टेड भी किया जा सकता है.