शिक्षा विभाग की सख्ती, सभी जिलों से एक लाख 10 हजार नियोजित शिक्षकों के सर्टिफिकेट तलब

एक लाख दस हजार नियोजित शिक्षकों के प्रमाणपत्र अभी तक निगरानी को नहीं सौंपे जाने को लेकर बिहार शिक्षा विभाग ने जिलों पर नाराजगी व्यक्त की है।

इस बाबत विभाग ने जिलों से शेष सभी प्रमाणपत्र तलब किया है। गौरतलब हो कि पटना हाईकोर्ट के निर्देश पर सभी नियोजित शिक्षकों के प्रमाणपत्रों की निगरानी द्वारा जांच पांच सालों से की जा रही है।

ढाई लाख से अधिक शिक्षकों में एक लाख दस हजार के संबंधित प्रमाणपत्र ही निगरानी को नहीं मिले हैं। इस कारण जांच अधूरी है।

विभाग ने जिला शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश दिया है शिक्षकों के शैक्षणिक और प्रशिक्षण प्रमाणपत्र निगरानी के नोडल पदाधिकारी को उपलब्ध करायें और 23 दिसंबर तक हर हाल में इसकी पूरी रिपोर्ट मुख्यालय को भेजें।

शिक्षा विभाग ने कहा है कि पंचायत और प्रखंड नियोजन इकाई के सदस्य सचिवों (क्रमश: पंचायत सचिव व प्रखंड विकास पदाधिकारी) तथा निगरानी विभाग के प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारी के साथ शिक्षा विभाग के जिला और प्रखंड के अधिकारी अविलंब संयुक्त बैठक करें।

अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि सभी प्रमाणपत्र निगरानी विभाग को शीघ्र उपलब्ध हो।