मुजफ्फरपुर में पटना के व्यवसायी को गोलियों से भूना, बेटे का बयान- पापा कहते रहे, गोली मत मारो, स्कॉर्पियो ले लो

मुजफ्फरपुर के कांटी-शिवहर रोड में रघई के समीप रविवार को दिनदहाड़े अपराधियों ने पटना में बालू-गिट्टी का कारोबार करने वाले योंगेद्र कुमार (45) को गोलियों से भून डाला।

घटना के वक्त उनके साथ पत्नी, साला व तीन बच्चे भी थे। वह अपने पैतृक गांव पूर्वी चंपारण के तेतरिया थाने के राजेपुर से भतीजी की शादी में शामिल होकर स्कॉर्पियो से पटना के कंकड़बाग लौट रहे थे।

दोपहर करीब ढाई बजे दो बाइक सवार चार नकाबपोश अपराधियों ने स्कॉर्पियो को आगे से घेरकर खिड़की से गोलियों की बौछार कर दी। ऑटोमेटिक पिस्टल से फायरिंग की।

व्यवसायी के सिर व गर्दन में चार गोलियां लगी। गाड़ी पर भी गोलियां लगी। इसके बाद अपराधी रघई पुल की ओर फरार हो गए। स्कॉर्पियो से ही व्यवसायी के साला उन्हें लेकर कांटी पीएचसी पहुंचे, जहां से एसकेएमसीएच रेफर कर दिया।

परिजन व्यवसायी को बैरिया स्थित एक निजी अस्पताल ले गए। वहां से भी डॉक्टर ने एसकेएमसीएच भेज दिया। एसकेएमसीएच ले जाने पर इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर ने व्यवसायी को मृत घोषित कर दिया।

घनी आबादी में दिया वारदात को अंजाम :
जिस जगह पर व्यवसायी को अपराधियों ने गोलियों ने भूना, वह घनी आबादी के बीच है। गोलियों की तड़तड़ाहट से इलाका गूंज गया। एक से दो मिनट में अपराधियों ने वारदात को अंजाम दे डाला।

जबतक ग्रामीण मौके पर पहुंचते, सभी अपराधी फरार हो चुके थे। ग्रामीणों ने पानापुर ओपी को फोन कर घटना की जानकारी दी। साथ ही जख्मी व्यवसायी को अस्पताल ले जाने में मदद भी की।