समस्तीपुर के 36 अस्पतालों में सहेजी जाएंगी बारिश की बूंदें, लगेंगे वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम

सरकारी अस्पतालों में अब बारिश की बूंदें सहेजी जाएंगी। मरीजों को भी जल संरक्षण के बारे में बताया जाएगा। जल जीवन हरियाली योजना के तहत पहले चरण में स्वास्थ्य प्रशासन की ओर से 36 अस्पतालों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जाना।

स्वास्थ्य संस्थानों में इसको लेकर कार्य प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी चल रही है। इस योजना को सतह पर उतारने के लिए सिविल सर्जन डॉ. सत्येंद्र कुमार गुप्ता ने आदेश जारी कर दिया है।

सीएस ने सदर अस्पताल, अनुमंडलीय अस्पताल रोसड़ा, दलसिंहसराय, पटोरी व पूसा के उपाधीक्षक और सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को आदेश जारी किया है।

इसमें रोगी कल्याण समिति के खाते में उपलब्ध राशि से ग्रामीण विकास विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए मॉडल प्राक्कलन के अनुरूप निर्माण कराने को कहा गया है।

मई-जून महीने में भूगर्भीय जल स्तर नीचे चला जाता 

बारिश के जल को हार्वेस्टिंग सिस्टम से भूगर्भ में रिचार्ज किया जाएगा, ताकि इन अस्पतालों में पानी की किल्लत न हो। समस्तीपुर जिले के सभी इलाकों में मई-जून महीने में भूगर्भीय जल स्तर काफी नीचे चला जाता है।

जलस्तर 40 से 50 फीट नीचे जाने से अधिकांश चापाकल फेल हो जाते हैं। इससे मरीज को पेयजल संकट का सामना करना पड़ता है। रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम ऐसे अस्पतालों के लिए मील का पत्थर साबित होगा।