पश्चिम बंगाल में लगेगा राष्ट्रपति शासन? गवर्नर धनखड़ बोले- ममता बनर्जी को संविधान का करना होगा पालन

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही हिंसा की घटनाओं में इजाफा हो गया है। राज्य में कई बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्याओं के बाद गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमला हुआ था।

अब राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को संविधान का पालन करना होगा। राज्यपाल के बयान के बाद आशंकाएं उठ रही हैं कि क्या चुनाव से पहले ही बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया जाएगा।

इसके पीछे एक वजह यह भी है, क्योंकि गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के डीजीपी और मुख्य सचिव को कानून-व्यवस्था को लेकर समन भेजा है।

नड्डा के काफिले पर हमले के संदर्भ में राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा, ”पश्चिम बंगाल में दिन-ब-दिन कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है।

राज्य में भीतरी और बाहरी का खतरनाक खेल चल रहा है। उन्होंने ममता सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में कानून का उल्लंघन करने वालों को पुलिस और प्रशासन का संरक्षण मिला हुआ है।

उन्होंने आगे कहा कि ममता बनर्जी को कल (जे पी नड्डा के काफिले पर हमले के संबंध में) दिए गए अपने बयान को लेकर माफी मांगनी चाहिए। ममता बनर्जी ने कहा था कि बीजेपी के पास कोई और काम नहीं है।

कई बार गृह मंत्री यहां होते हैं, जब वह नहीं होते तो कोई चड्ढा, नड्डा, फड्डा यहां होते हैं। जब उनके पास रैलियों में लोग नहीं होते है, तो वह अपने कार्यकर्ताओं को नौटंकी करने के लिए कहते हैं।