भारत बंद: शिवराज सिंह बोले- मैदान में नहीं लड़ सकती कांग्रेस, बन गई आग लगाऊ पार्टी

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने आज भारत बंद बुलाया है. पूरे देश में इसका असर देखने को मिल रहा है. इस मसले पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बातचीत के दरवाजे खुले हैं और सरकार हर शंका का समाधान करने के लिए तैयार है इसलिए भारत बंद का कोई औचित्य नहीं है. उन्होंने कहा कि इसकी आड़ में राजनीतिक दल अपनी रोटियां सेक रहे हैं. 

मध्य प्रदेश के बारे में शिवराज सिंह ने कहा कि यहां के किसान तीनों कानूनों के पक्ष में हैं क्योंकि उन्हें पता है कि ये सुधार फायदेमंद है. शिवराज सिंह ने कहा कि ये वही सुधार हैं जिनकी वकालत मनमोहन सिंह की सरकार में होती थी. शिवराज सिंह ने यूपीए सरकार में कृषि मंत्री रहे शरद पवार के लेटर का भी जिक्र किया जो उनकी तरफ से मध्य प्रदेश सरकार को लिखा गया था. 

शिवराज सिंह ने कहा कि सोनिया गांधी अपनी सरकार में कृषि सुधारों की वकालत करती थीं. किसान को मंडी से बांधकर न रखा जाए, इसकी वकालत भी पुरानी सरकार करती थी. कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग में जाने का भी प्रावधान था. इसके अलावा स्टॉक लिमिट तय नहीं होने की बात भी कही गई थी.

शिवराज सिंह ने कहा कि ये सभी बातें जो यूपीए सरकार में कही गई थीं वही काम अब किए गए हैं. ये दावा करते हुए शिवराज सिंह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस किसानों को भड़का रही है. शिवराज सिंह ने मंदसौर में भी किसानों को भड़काने का आरोप कांग्रेस पर लगाया.