बिहार में अपनी ही सरकार पर हमलावर हुई बीजेपी; नीतीश राज में कानून-व्‍यवस्‍था पर उठाए सवाल, गरमाई सियासत

बिहार में कानून-व्‍यवस्‍था की स्थिति ठीक नहीं है। यह चिंता विपक्ष की नहीं, बल्कि सत्‍ताधारी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल भारतीय जनता पार्टी की है।

जी हां, बीजेपी के प्रदेश अध्‍यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में गठित अपनी ही सरकार को घेरा है।

उन्‍होंने राज्‍य के पूर्वी चंपारण जिले में कानून-व्‍यवस्‍था की स्थिति के बहाने बड़ी बात कही है।

बीजेपी के प्रदेश अध्‍यक्ष द्वारा कानून-व्‍यवस्‍था पर सवाल उठाने पर एक ओर जहां विपक्ष हमलावर है तो दूसरी ओर सत्‍ता पक्ष सफाई दे रहा है। विपक्ष इसे नई सरकार में बीजेपी की दबाव की राजनीति भी बता रहा है।

बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष ने उठाया कानून व्‍यवस्‍था का मुद्दा

डॉ. संजय जायसवाल शुक्रवार की सुबह बेतिया से पटना की यात्रा के दौरान रास्ते में पूर्वी चंपारण के सेमरा में जनता द्वारा किए सड़क जाम में फंस गए।

उन्‍हें पता चला कि वहां में आए दिन चोरियां हो रही हैं। गांव वालों ने चोर को पकड़ने की कोशिश की तो वह अपनी बाइक छोड़कर भागने में सफल रहा।

स्‍थानीय तुरकौलिया थाना प्रभारी को फोन करने पर वह उल्टे गांव वालों को धमकाने लगा कि पुलिस आई तो उन्‍हें ही गिरफ्तार करेगी। संजय जायसवाल ने इस वाकये को फेसबुक पर पोस्‍ट किया।

बयान पर गरमाई सियासत, पक्ष-विपक्ष ने कही ये बात

बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष के इस बयान को विपक्ष मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर दबाव की राजनीति बता रहा है। साथ ही यह सवाल खड़ा कर रहा है कि जब उनकी ही सरकार है तो कानून-व्‍यवस्‍था को ठीक करने में आखिर क्‍या मजबूरी खड़ी हो रही है?