Bihar Flashback : जब लालू ने 135 दिन जेल से ही चला ली थी सरकार

जेल से आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के कथित फोन कॉल के वायरल होने के बाद सियासी तूफान खड़ा हो गया है। बीजेपी ने अपने विधायक को लालू की कथित कॉल आने के बाद इसे मुद्दा बना लिया है।

बीजेपी का आरोप है कि लालू रांची में जेल के अंदर से ही बिहार में 2020 में चुनी गई NDA सरकार को गिराने की साजिश रच रहे हैं।

फिलहाल लालू के उस वायरल आडियो का सच तो जांच के बाद ही सामने आएगा। लेकिन इस मामले से 23 साल पहले की वो याद ताजा हो गई है जब लालू ने जेल में ही रहकर 100 से ज्यादा दिनों तक सरकार चला ली थी।

जब लालू ने जेल से चलाई थी सरकार
साल 1997… ये वो वक्त था जब चारा घोटाले में लालू पर कानून का शिकंजा कस चुका था। अरबों रुपये के चारा घोटाले में उन्हें यानि तत्कालीन मुख्यमंत्री को मुख्य साजिशकर्ता करार दिया गया था।

लालू के सामने जेल जाने के अलावा और कोई चारा नहीं था। गवर्नर अखलाकुर रहमान किदवई ने सीबीआई को लालू प्रसाद के खिलाफ मुकदमा दायर करने की इजाजत दे दी थी।

उधर लालू पर सीएम के पद छोड़ने का दवाब उनकी तत्कालीन राष्ट्रीय पार्टी यानि चक्र छाप निशान वाले जनता दल की तरफ से ही बढ़ रहा था। हालांकि जनता दल के बिहार के लगभग सभी विधायक उनके साथ थे।

ऐसे में लालू ने एक नई चाल चली, उन्होंने जनता दल से ही खुद को अलग कर लिया और 5 जुलाई 1997 को अपनी नई पार्टी RJD यानि राष्ट्रीय जनता दल का गठन कर लिया। इसके बाद बिहार विधानसभा में राष्ट्रीय जनता दल ने बहुमत भी साबित कर दिया।