बुजुर्ग दंपती ने विवाह की साठवीं वर्षगांठ पर एक साथ छोड़ी दुनिया

विराट नगर:- पंचायत समिति के ग्राम पंचायत कुहाड़ा निवासी एक दंपती ने 60 साल पहले जिस तिथि पर परिणय-सूत्र में बंधकर साथ जीने-मरने की कसम खाई संयोग से उसी दिन दोनों ने एक साथ दुनिया छोड़ दी।

कुहाड़ा निवासी प्रभुदयाल नैनावत एवं सरबती देवी का वर्ष 1960 में देवउठनी एकादशी के दिन विवाह हुआ था। बुधवार देवउठनी एकादशी के दिन ही अचानक सरबती देवी का निधन हो गया।

इसके कुछ देर बाद ही प्रभुदयाल ने भी दुनिया को अलविदा कह दिया। ग्रामीण शिवराम गुर्जर ने बताया कि कुहाड़ा निवासी प्रभुदयाल नैनावत और सरबती देवी 1960 में देवउठनी एकादशी के सावे पर परिणय सूत्र बंधन में बंधे थे।

बुधवार को दंपती में से 79 वर्षीय सरबती देवी ने पहले दम तोड़ दिया। कुछ ही घंटे के बाद उनके 81 साल के पति प्रभुदयाल ने भी तोड़ दिया। निधन के बाद दोनों की एक ही समय पर अंतिम यात्रा निकालकर एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।

दंपती अपने पीछे भरापूरा परिवार छोड़कर दुनिया से अलविदा हुए हैं। दंपती की मौत के बाद परिवार सहित आसपास क्षेत्र में गम का माहौल छा गया। साथ ही दोनों का निधन चर्चा का विषय रहा।