असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन, सबसे लंबे समय तक रहे थे

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन हो गया है. इस बात की घोषणा प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने की. तरुण गोगोई की तबीयत आज सुबह ज्यादा बिगड़ गयी थी,

जिसके बाद असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल अपने कार्यक्रमों को रद्द करके डिब्रूगढ़ से गुवाहाटी लौटे थे. उन्होंने ट्‌वीट कर इस बता की जानकारी दी थी और कहा था कि आदरणीय तरुण गोगोई दा की तबीयत बिगड़ गयी है.

वे हमेशा मेरे लिए पिता के समान रहे हैं. मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना लाखों लोगों के साथ कर रहा हूं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तरुण गोगोई के निधन पर शोक जताते हुए उन्हें प्रसिद्ध नेता और वेटरन प्रशासक बताया है. उन्होंने अपने संदेश में तरुण गोगोई के परिवार वालों के प्रति संवेदना जतायी है और कहा है कि इस दुख की घड़ी में वे उनके साथ हैं.

तरुण गोगोई असम के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे. वे 2001 से 2016 तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे. वे कांग्रेस पार्टी के नेता थे. वे लगातार 15 वर्षों तक मुख्यमंत्री के पद पर रहे थे.

तरुण गोगोई का जन्म एक अप्रैल 1936 में हुआ था. उनके पिता डॉक्टर थे. उन्होंने गुवाहाटी यूनिवर्सिटी से एलएलबी की डिग्री ली थी. वे छह बार लोकसभा के सदस्य चुने गये थे. तरुण गोगोई ने इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और नरसिंह राव के साथ भी काम किया था.