मिथिलांचलवासियों सपना पूरा, दरभंगा एयरपोर्ट पर उतरा पहला यात्री विमान, मिला वाटर सैल्यूट

मिथिलांचल वासियों खासकर दरभंगा के निवासियों को दिवाली और छठ से पहले मिला बड़ा तोहफा। लोगों के वर्षों का सपना पूरा हुआ। दरअसल दरभंगा एयरपोर्ट पर उतरा पहला विमान।

दिल्ली से उड़ान भरकर आज यानी रविवार को जब 11 बजकर 45 मिनट पर पहली उड़ान दरभंगा एयरपोर्ट पर पहुंची तो लोगों  ने तालियों से उसका स्वागत किया। एयरपोर्ट पर उसे वाटर सैल्यूट दिया गया। इसके साथ ही आज से दरभंगा से दिल्ली, बेंगलुरु और मुंबई के लिए तीन जोड़ी स्पाइस जेट की फ्लाइट शुरू हो गई है। 

फ्लाइट के लिए बुकिंग 20 सितंबर से ही शुरू
20 सितंबर से ही रोजाना ऑपरेट होनी वाली तीन जोड़ी फ्लाइट के लिए बुकिंग शुरू हो गई थी। 8 नवंबर को इन छह फ्लाइटों में करीब 80 से 90 फीसदी टिकट बुक हो चुके हैं। इन तीनों शहरों से आने वाले यात्रियों की तादाद ज्यादा है।

बिहार में दीपावली व छठ की उत्सवधर्मिता की वजह से अभी यहां से जाने वाले यात्रियों की तादाद कुछ कम है। नई उड़ान सेवाओं के शुरू होने से इस बार दीपावाली व छठ में मिथिलांचल या इससे सटे जिलों के लोग आसानी से घर आएंगे।

उन्हें घर जाने के लिए अब पटना आने की मजबूरी नहीं होगी। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इन तीनों फ्लाइट के 8 नवंबर से शुरू होने की घोषणा दो माह पहले पटना में की थी।

छह चेक-इन काउंटर है इस एयरपोर्ट में
वायु सेना के अंतर्गत आने वाले दरभंगा एयरपोर्ट का एरिया 1,400 वर्गमीटर है। इस हवाई अड्डे के अंतरिम टर्मिनल भवन का निर्माण पूरा हो चुका है।

छह चेक-इन काउंटरों वाला टर्मिनल भवन, सभी आवश्यक यात्री सुविधाओं के साथ व्यस्ततम समय में 100 यात्रियों को संभालने में सक्षम है। इस हवाई अड्डे को बोइंग 737-800 जैसे विमानों के लिए अनुकूल है।

Posted by Raushan Kumar