चीन के नहीं, भारत में बने खिलौनों से खेलेंगे बच्चे; मैन्यूफैक्चरर्स ने आयात छोड़ उत्पादन पर फोकस किया

भारतीय बच्चे अब चीन के नहीं, बल्कि पूरी तरह से भारत में निर्मित खिलौने से खेलेंगे। इस दिशा में जोर-शोर से तैयारी चल रही है। वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय चीन से होने वाले खिलौने के आयात पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा सकता है।

कुछ माह पहले चीन से आयात होने वाले खिलौनों पर लगने वाले शुल्क में 200 फीसद की बढ़ोतरी की गई जिससे चीन से खिलौना आयात में कमी आई है।

वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने खिलौना उत्पादन को भी प्रमुख सेक्टर में रखा है। खिलौना निर्माण को प्रोत्साहित करने के लिए देश में कई क्लस्टर बनाने की योजना है। 

चीन से होने वाले आयात पर लगने वाले शुल्क को 20 फीसद से बढ़ाकर 60 फीसद किए जाने के बाद आयातक अब फिर से मैन्यूफैक्चरिंग की ओर मुखातिब हो रहे हैं।

दिल्ली स्थित खिलौना निर्माता और आयातक गजिंदर छाबड़ा ने बताया कि शुल्क में बढ़ोतरी और चीन के खिलाफ बन रहे माहौल का असर दिखने लगा है। 

Source jagaran