दुर्गा पूजा पंडाल में हाई कोर्ट ने रोकी श्रद्धालुओं की एंट्री, सुप्रिम कोर्ट में अपील करेगी ममता सरकार!

कोरोना संकट के बीच दुर्गा पूजा पंडाल को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट से पश्चिम बंगाल सरकार को झटका लगा है. कलकत्ता हाई कोर्ट ने सभी पूजा पंडालों को नो एंट्री जोन घोषित किया है. वहीं बताया जा रहा है कि राज्य सरकार ऑर्डर की कॉपी मिलने के बाद सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने के विकल्पों पर विचार कर रही है.

राज्य में सभी दुर्गा पूजा पंडाल अब आगंतुकों के लिए नो-एंट्री जोन होंगे. हाई कोर्ट ने आदेश दिया है कि पंडाल में केवल आयोजकों की एंट्री होगी, और पंडाल के बाहर आयोजकों के नाम का उल्लेख किया जाना चाहिए. पंडाल परिसर में अधिकतम 25 सदस्यों की अनुमति है. कोर्ट ने कहा कि पंडाल में जाने वाले आयोजकों के नाम और संख्या फिक्स होगी और इसे रोज बदला नहीं जा सकता है. अदालत ने कहा कि छोटे पंडालों के लिए पांच मीटर का क्षेत्र और बड़े पंडालों के लिए 10 मीटर क्षेत्र को भी नो-एंट्री जोन में शामिल किया गया है

Source aaj tak